भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड,

श्रम विभाग, उत्तराखंड शासन

निर्माण गतिविधियां

भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कौनहै तथा फायदाग्राही कैसे बन सकते हैॽ

सरकारी एवं गैर सरकारी भवनों के निर्माण और अन्य निर्माण कार्यों जैसे पुल, सडक, हवाई–पटटी, सिंचाई, पानी निकासी, तटबन्ध, सुरंग, बाढ़ नियन्त्रण, विद्युत उत्पादन, पारेषण एवं वितरण, जल–कल, तेल एवं गैस इन्स्टालेशन, बांध, नहर, जलाशय, पाइप लाईन, टावर, टेलीविजन, टेलीफोन–मोबाइल टावर आदि से संबंधित निर्माण कार्य मरम्मत, रख–रखाव आदि में कार्य कर रहे कामगार (मजदूर, मिस्त्री, प्लम्बर आदि) भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार हैं।

सरकारी एवं गैर सरकारी भवनों के निर्माण और अन्य निर्माण कार्यों में कार्यरत निर्माण कामगार द्वारा जिसने 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर ली हो तथा अधिवर्षता आयु 60 वर्ष पूर्ण न किये हों, पूर्ववर्ती 01 वर्ष के दौरान कम से कम 90 दिन निर्माण श्रमिक के रूप में कार्य किया हो, अपना पंजीकरण करा सकता है, जो पंजीकरण की तिथि से आगामी 03 वर्ष हेतु वैध होगा। निर्माण श्रमिक को पंजीकरण नवीनीकरण हेतु तीन वर्ष की समाप्ति से पूर्व धनराशि रूपया 100 ⁄– संबंधित पंजीकरण कार्यालय में जमा कराया जाना अनिवार्य होगा, जहाँ की वह निर्माण श्रमिक के रूप में पूर्व में पंजीकृत है।

पंजीकरण के समय निर्माण श्रमिक को अपने प्रार्थना पत्र के साथ पासपोर्ट आकार के 02 फोटो, आयु का प्रमाण–पत्र तथा विगत वर्ष मं कम से कम ९० दिन निर्माण श्रमिक के रूप में कार्य करने का प्रमाण–पत्र तथा बैंक पासबुक की छायाप्रति जो पठनीय हो तथा बैंक आधार कार्ड की छायाप्रति यदि हो तो प्रस्तुत करना आवश्यक है। पंजीकरण कराने वाले निर्माण श्रमिक द्वारा एकीकृत पंजीकरण फार्म में अंकित नाम निर्देशन संबंधी खण्ड को भरा जाना आवश्यक होगा। उक्त सभी प्रकार के प्रपत्र संबंधित क्षेत्र के श्रम प्रवर्तन अधिकारी ⁄ पंजीकरण अधिकारी कार्यालय से प्राप्त किये जा सकते हैं। पंजीकरण अधिकारी कार्यालय द्वारा निर्माण श्रमिक का पंजीकरण करते हुए उसे पहचान–पत्र (स्मार्ट कार्ड) जारी किया जाएगा।